Thursday, October 22, 2009

अकेला - 2

क्या अकेलापन एक बीमारी है?
या एक आदत,
जो सिगरेट की उड़ती धुएँ के साथ
मेरे शरीर को अहिस्ते-अहिस्ते
स्वाहा करती जाती है?
एक नशा तो नही?
जिसकी खुमार रहने तक
भारतीय शास्त्रीय वाद्य-यन्त्र
हॉलीवुड का सिनेमा
एक अजनबी खाने की रेसिपे -
सारे स्वर्गीय लगते हैं ,
और खुमारी के बाद
वास्तव का सर दर्द
तनहा बिस्तर का निम्बू-पानी
स्मृतियों की उल्टियाँ ?
करीबन ५००० लोगों के बीच का
अकेलापन
बुक-स्टोर के उस नोबेल विजयी उपन्यास सा लगता है
जिसे लोग श्रद्धा से हिलाते-डुलाते हैं,
पर खरीदते वक्त,
वही Dan Brown का चटपटा थ्रिलर :)

1 comment:

Riddhiculuos said...

waah i loved it to the core tapan.. a beautiful take on loneliness..